Comments

समर्थक

शुक्रवार, 7 मई 2010

भ्रष्ट अफसरों की संख्या तीन गुना बढ़ी

Posted by at 11:42 am Read our previous post
सरकारी संरक्षण में मौज करने वाले भ्रष्ट अधिकारियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। पिछले तीन महीने में ऐसे अधिकारियों की संख्या तीन गुना से भी ज्यादा हो गई है। सीबीआई ने 31 मार्च 2010 तक के ऐसे अधिकारियों की सूची जारी की है, जिनके खिलाफ सीबीआई की चार्जशीट तैयार है और उसे सरकार की इजाजत का इंतजार है। गौरतलब है कि सीबीआई ने इसी साल से ऐसे अधिकारियों की सूची सार्वजनिक करना शुरू किया है।

सीबीआई की ताजा सूची [31 मार्च 2010 तक] के अनुसार उसने भ्रष्टाचार से जुड़े 117 मामले में फंसे 316 भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर ली है और अदालत में इसे दाखिल करने के लिए सरकार की अनुमति का इंतजार है। जबकि फरवरी 2010 तक की सूची में 247 अधिकारियों के नाम थे और 31 दिसंबर 2009 तक की सूची में मात्र 99 अधिकारी ही शामिल थे। जाहिर है पिछले तीन महीने में ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों की संख्या तीन गुना बढ़ गई है।

वैसे सरकार ने मार्च महीने में 29 मामलों में फंसे कुल 45 अधिकारियों के खिलाफ अदालत में आरोपपत्र दाखिल करने की अनुमति सीबीआई को दी थी। लेकिन इसी महीने में सीबीआई ने 35 नए मामलों की जांच पूरी कर ली और इसमें आरोपी पाए गए 115 अधिकारियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल करने की अनुमति का पत्र केंद्र और संबंधित राज्य सरकारों भेज दिया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सरकार का बचाव करते हुए कहा कि सीबीआई की इस सक्रियता के कारण भी सूची ज्यादा लंबी हो गई है। लेकिन इस सूची में दर्जनों ऐसे मामले हैं जिनमें भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ चार्जशीट करने के लिए सीबीआई तीन साल पहले ही अनुमति मांग चुकी थी। लेकिन अब तक उसे यह अनुमति नहीं मिली है।

----------------------------------------------------------------------------------------------------------

यह कोई नयी बात नहीं बताई है CBI वालों ने भारत का तो बच्चा-बच्चा इस बात को बहुत पहले से जानता है कि भ्रष्ट अधिकारियो कि गिनती बढ़ती ही जा रही है | सरकार भी बेचारी कब तक अनुमति पत्रों पर अपनी मोहर लगाती रहेगी ................यह गिनती तो बढ़ती ही रहेगी .................... जैसे मंत्री वैसे अधिकारी !! इस में क्या नया है ?? अगर CBI वालों को सच में देश से भ्रष्टाचार खत्म करना है तो सब से पहले भ्रष्ट मंत्रियो को चार्जशीट दे फिर अधिकारियों की बारी आएगी !! जब तक हमारे देश के मंत्री नहीं सुधरेगे, अधिकारी कभी नहीं सुधर सकते !! इस लिए समस्या को सिरे से ही खत्म किया जाये तो ही कुछ लाभ है !

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------

वैसे भाई जो करना है करो....... अपन तो ना मंत्री है ना अधिकारी !! अपन तो सीधी साधी जनता है जिस का होना ना होना सब बराबर है !! हर ५ साल में कुछ दिनों के लिए हमारे दिन बदलते है फिर वही हड्डी वही खाल !! सो अपने कहने का बुरा मत मानना .............अपनी तो आदत है सो कहते है ......................जागो सोने वालों ...........!!!

8 टिप्‍पणियां:

  1. CBI के अनुसार फरवरी 2010 तक की सूची में 247 अधिकारियों के नाम थे लेकिन मेरे विचार से अगर CBI ये कहे की पुरे भारत में 247 अधिकारी भ्रष्ट नहीं है तो भी ये अतिशयोक्ति नहीं होगी.

    उत्तर देंहटाएं
  2. इसके लिए सिर्फ और सिर्फ डरपोक जनता जिम्मेवार है /

    उत्तर देंहटाएं
  3. बप्पा मोरे.... ई का अबही थोडे हुआ है... भैया हिन्दुस्तान एके साल में थोडे महान हुआ है... पूरा तिरसठ साल लगा है इसको महान बननें मे..

    उत्तर देंहटाएं
  4. Ye adhikari aur mantri isi deshki jantake, maa bahnon ke jaye hain! Jitni loksankhya badhegi,utnihi bhrasht adhikariyon ki soochi badhegi!

    उत्तर देंहटाएं
  5. समयोचित तथा सुसंगत रचना है! भ्रस्टाचार के मूल में क्या है ... गरीबी? बढती जनसंख्या? ढीला नियम? या फिर जनता में जागरूकता की कमी?

    उत्तर देंहटाएं
  6. यही देश का दुर्भाग्य है..विचारोत्तेजक पोस्ट.
    ***************
    'शब्द सृजन की ओर' पर 10 मई 1857 की याद में..आप भी शामिल हों.

    उत्तर देंहटाएं
  7. dost badi khoj been ke baad ye comment vala box mil paya. aapki lekhani se parichay hua. apake sabhi post uttam hain.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

Labels

© जागो सोने वालों... is powered by Blogger - Template designed by Stramaxon - Best SEO Template