समर्थक

बुधवार, 27 अक्तूबर 2010

रिश्वत मांगे अधिकारी तो एक फोन लगाएं


रिश्वत नहीं देने के कारण यदि आपकी फाइल लंबे समय से किसी सरकारी दफ्तर में अटकी है या किसी काम के लिए सरकारी बाबू आपसे 'चढ़ावा' मांग रहे हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। अब सिर्फ एक फोन नंबर लगाते ही आपकी सारी परेशानी दूर हो सकती है। दरअसल, सरकारी दफ्तरों में भ्रष्टाचार रोकने की अपनी कवायद को धारदार बनाने के लिए केंद्रीय सतर्कता आयोग [सीवीसी] ने एक रिश्वत रोधी हेल्पलाइन शुरू की है।

सरकारी बाबू द्वारा सताए गए लोगों को टोल फ्री नंबर 1800-11-0180 और 011-24651000 पर अपनी शिकायत दर्ज करानी होगी। सीवीसी के एक अधिकारी के मुताबिक यह सेवा उन लोगों के लिए फायदेमंद होगी जो किसी सरकारी विभाग के कर्मचारियों की रिश्वत की मांग के कारण अपने काम में अनावश्यक देरी से संबंधित समस्या का सामना कर रहे हैं। अधिकारी ने इस नई सेवा के बारे में कहा, 'कोई शिकायतकर्ता हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सकता है और उसके साथ हुए अन्याय या उत्पीड़न की शिकायत कर सकता है। वह संबंधित विभाग के मुख्य सतर्कता अधिकारी [सीवीओ] से भी सीधे संपर्क कर सकता है। सीवीओ फोन करने वाले व्यक्ति से सभी जानकारी लेंगे और पता लगाएंगे कि उसकी समस्या जायज है या नहीं। मामले के अनुसार जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

अधिकारी ने कहा कि इस हेल्पलाइन का प्रारंभिक मकसद भ्रष्टाचार पर रोकथाम के अलावा बिना बाधा के लोगों का काम पूरा कराना है। उन्होंने बताया कि लोग केंद्र सरकार द्वारा संचालित विभागों और सार्वजनिक उपक्रम में रिश्वतखोरी व अन्य समस्याओं से संबंधित शिकायतें इस हेल्पलाइन में दर्ज करा सकते हैं। यह हेल्पलाइन सोमवार से शुक्रवार तक सुबह दस बजे से शाम सात बजे के बीच संचालित होगी।

-------------------------------------------------------------------------------------------------

अब सब सुधर जाओ ....लेने वालो भी और देने वालो भी ......मालूम है इस हेल्पलाइन को पूरी तरह से लागू होने में थोडा समय लगेगा पर मान लो एक बार यह सही तरह से चल पड़ी तो फिर आप लोगो का क्या होगा ?? सिर्फ़ एक फोन और काम चालू ....सोचो.....सोचो ......अपने को तो बहुत मज़ा आ रहा है !!!

-------------------------------------------------------------------------------------------------

जागो सोने वालो ...

रविवार, 24 अक्तूबर 2010

पर्यावरण पर आलेख प्रतियोगिता


आज ललित शर्मा जी की एक पोस्ट देखी तो लगा इस मुद्दे को हम सब को मिल कर उठाना चाहिए | बहुत ही सराहनीय प्रयास है उनका | ललित जी को बहुत बहुत साधुवाद !

यहाँ मैं उनकी पोस्ट का लिंक दे रहा हूँ साथ साथ पूरी पोस्ट भी दे रहा हूँ ताकि आप सब भी उनके इस सराहनीय प्रयास के बारे में जान सकें !



मित्रों, पर्यावरण प्रदूषण के कारण बहुत सारी समस्याएं हमें घेरती जा रही हैं, नित नए रोग जन्म लेते जा रहे जा रहे हैं। शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो निरोग हो। हमें पर्यावरण प्रदूषण के कारण हो रहे जलवायु परिवर्तन के प्रति सचेत होना पड़ेगा। पूरे विश्व में इस दिशा में बहुत कार्य हो रहे हैं। इससे बचने के लिए हमारा जागरुक होना अत्यावश्यक है। विगत कई दिनों मैं बच्चों के बीच पर्यावरण के प्रति जागरुक का संदेश देने वाले कार्यक्रमों में गया,तब मेरे मन में आया की ब्लॉग जगत में एक आलेख प्रतियोगिता का आयोजन किया जाए क्योंकि हमारे ब्लॉग जगत में धुरंधर लिक्खाड़ों और विद्वानों की कमी नहीं है। इसलिए हम एक आलेख प्रतियोगिता आयोजन करने जा रहे हैं। जिसमें नगद पुरस्कार दिए जाएगें और उन्हे समारोह पूर्वक सम्मानित भी किया जाएगा। यह आयोजन यहाँ होगा। जहाँ नियमित स्वीकृत आलेखों का प्रकाशन होगा। संभव हुआ तो सार्थक टिप्प्णीकारों के लिए भी पुरस्कार की व्यवस्था की जाएगी। बाकी जानकारी अगली पोस्ट में दी जाएगी।

-------------------------------------------------------------------------------------------------
जागो सोने वालो ...